बार-बार आते हैं चक्कर तो हो जाइए सावधान, ब्रेन टीबी का हो सकते हैं शिकार

brain tb

हम अकसर ये बात समझते थे कि टीबी फेफड़ो में होने एक बीमारी है, लेकिन ऐसा नहीं है। आपको ये जानकार हैरानी होगी कि ब्रेन में भी टीबी हो सकता है। वैसे तो आमतौर पर इसका असर फेफड़ों पर ही देखने को मिलता है, लेकिन इसका ताल्लुक सिर्फ फेफड़ों से ही होता ये बात कहना बिल्कुल गलत है। टीबी एक बैक्टीरियल इंफेक्शन है, जोकि आपके दिमाग पर भी असर डालता है। इस बीमारी के चलते आपके दिमाग में भी सूजन आ जाती है, जिसे मेनिनजाइटिस भी कहा जाता है। ये किसी भी वर्ग के व्यक्ति हो सकता है।

टीबी या फिर ब्रेन टीबी किसी भी उम्र के व्यक्ति हो सकती है। बच्चे ही नहीं बुजुर्ग भी इस बीमारी से प्रभावित होते हैं। ऐसे में कुछ विशेष परिस्थिति वाले लोगों में ब्रेन टीबी का खतरा काफी ज्यादा होता है।

Advertisement
  • समय पर टीबी का इलाज या फिर कोर्स पूरा न करने वाले लोगों को भी ब्रेन टीबी का खतरा होता है।
  • एचआईवी और एड्स से संक्रमित लोगों को भी ये बीमारी होती है।
  • धूम्रपान और शराब का अधिक सेवन करने वाले लोग।
  • डायबिटीज रोगियों को भी ब्रेन टीबी का खतरा अधिक रहता है।
  • किडनी फेल्योर

ब्रेन टीबी के लक्षण

  • थकान महसूस होती है।
  • हमेशा बीमार रहना।
  • मिचली-उल्टी।
  • हल्के-फुल्के बुखार।
  • बार-बार सिर दर्द होना।
  • तेज बुखार
  • हमेशा कंफ्यूज रहना
  • चिड़चिड़ापन महसूस होना।
  • समुद्री बीमारी और उल्टी।
  • बार-बार बेहोश होना।

तुरंत करें ये काम

Advertisement

ब्रेन टीबी का जैसे ही पता लगता है आप डॉक्टर आपको कुछ दिनों तक अपनी निगरानी में रखते हैं। ताकि उसका सही कारण का पता लगा सकें। ऐसे में किसी भी तरह की परेशानी होने पर फैरान डॉक्टर से संपर्क करें। खुद से इलाज करने की बिल्कुल कोशिश न करें।

Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *